Tuesday, June 3, 2014

मानसीक दिवालियेपन के शिकार

इन्हें एक माँ चाहिये, एक पत्नी चाहिये
इन्हें एक बहन चाहिये, एक बेटी चाहिये
नौकरी-चाकरी के लिये! 
ये सब ना हों तो इन्हें नौकर-चाकर चाहियें 
मगर अगर एक कामकाजी औरत को 
अगर एक कुक चाहिये, या एक मेड चाहिये 
तो इन मानसीक दिवालियेपन के शिकारों को 
इतना भी बरदास्त कहाँ???

सच में, तरस आता है मुझे
इनके मानसिक दिवालियेपन पे!

No comments: